Makar Sankranti : पौराणिक दृस्टि से लेकर वास्तु और खगोल विज्ञानं की दृस्टि से भी महत्व रखता है।

Spread the love with your friends

Makar Sankranti Fastival
Makar Sankranti Fastival

दोस्तों मकर सक्रांति का भारत वर्ष में एक विशेष महत्व है। ये त्यौहार पौराणिक दृस्टि से लेकर वास्तु और खगोल विज्ञानं की दृस्टि से भी महत्व रखता है। आज हम आपको हर एक महत्व का सीधे सब्दो में स्पस्ट रूप से समजाएगे की मकर सक्रांति का त्यौहार इतना खास क्यों मन जाता है।

हिंदुस्तान एक हिन्दुओ की पावन धरती है और इस से जुडी कुछ पौराणिक खाये कुछ इस प्रकार है :

१. ऐसा मन जाता है की इस दिन सूर्य देवता अपनी राशि में खास बदलाव करता है। इस दिन सूर्य देव धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है जो एक वास्तु शास्त्र की दृस्टि से बहुत ही अहम मन जाता है। और इस समय सुबह कार्यो की सुरुवात कर सकते है ऐसा वास्तु शास्त्रों में बताया गया है।

2. कुछ ऐसी ही एक और पौराणिक कथा भी इसके साथ जुडी हुई है , ऐसा मन जाता है की इस दिन सूर्य देवता शनि देव से मिलने उनके घर पे जाते है। शास्त्र के अनुसार शनि देव एक न्याय के देवता है और सूर्य देव धरती पे जीवन का संचार करते है। शनि देव में अपार गुस्सा माना जाता है। तो जब सूर्य देवता शनि देव यानि अपने पुत्र से मिलने जाते है तो शनि देव अतिथिय सत्कार की वजय से नरम सवभाव में पद जाता है जिस से शनि राशि वालो के जीवन में शनि का प्रभाव काम हो जाता है।

३. कुछ लोगो का मन्ना ऐसा भी है की इस दिन गंगा नदी धरती पे प्रकट हुई थी और भक्त भगीरथ के साथ उनके मृत्य वंशजो को मुक्ति मिली थी और फिर कपिल ऋषि के आश्रम होते हुए सागर में जा मिलती है। इस दिन पश्चिम बंगाल में कपिल ऋषि के आश्रम की जगह एक विशाल मेले का आयोजन किया जाता है। इस दिन नर्मदा नदी के सनान को खास महत्व दिया गया है।

दोस्तों इसके साथ की कुछ खगोल विज्ञानं की धारणाये भी मकर सक्रांति से जुडी हुई है :
जैसे की माना जाता है की इस दिन सूर्य उत्तरायण होता है , मतलब ये की सूर्य उत्तर दिशा में प्रवेश धरती का उत्तरी गोलार्ध सूर्य की तरफ झुक जाता है। जब सर्दी का मौसम होता है तो सूर्य दक्षिण दिशा की तरफ हल्का सा दिखाई देता है , जिस वजह से सर्दी का मौसम रहता है भारत में , और जब उत्तरी गोलार्ध में जाता है तो सर्दी काम होने लगती है।

अगर देखा जाये तो मकर सक्रांति त्यौहार के दिन वास्तु शास्त्र में कुछ विधान भी दिए गए है :
जैसे की मकर सक्रांति त्यौहार के दिन जमुना नदी में नहाकर गुड़ और तिल का दान करे जो स्वास्थ्य और वैभव की दृस्टि से खास बताया गया है।

तो दोस्तों ये थी कुछ मकर सक्रांति से जुड़े बहुत ही रोचक जानकारिया , ऐसी ही जानकारियों से जुड़े रहने के लिए नीचे कमेंट बॉक्स में आप अपनी राय दे सकते है। धन्यवाद्


Spread the love with your friends

Leave a Comment

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com