Pegasus Case: केंद्र सरकार ने स्वीकारा मॉनिटरिंग का आरोप, लेकिन सॉफ्टवेयर का नाम बताने से किया साफ इनकार।

Spread the love with your friends

नई दिल्ली: Pegasus Case: मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने यह स्वीकारा कि वह आतंकवाद से लड़ने और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए संदिग्ध संगठनों की मॉनिटरिंग करती है। हालांकि, सरकार का कहना है कि वो सॉफ्टवेयर का नाम नहीं बता सकती।

केंद्र सरकार ने कहा कि मॉनिटरिंग के लिए अनेक सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जाता है जो कि ज़रूरी है। आपको बता दें कि याचिकाकर्ता चाहते हैं कि सरकार बताए कि वह किस सॉफ्टवेयर का प्रयोग करते हैं और किसका नहीं।

Pegasus Case: ‘कोई भी देश सॉफ्टवेयर की सार्वजनिक नहीं करता’-SG तुषार मेहता

केंद्र सरकार का कहना है कि यह बताकर क्या हम उन संगठनों को सतर्क नहीं करना चाहते जिनकी हम मॉनिटरिंग कर रहे हैं। तकनीक इतनी ज़्यादा उन्नत है कि वह यह पता लगते ही कौन सा सॉफ्टवेयर प्रयोग हो रहा है, वे अपनी प्रणालियों को सुरक्षित कर लेंगे और मॉनिटरिंग से बच जाएँगे।

सॉलिसिटर जनरल (SG) तुषार मेहता ने कहा,”कोई भी देश यह जानकारी सार्वजनिक नहीं करता कि कौन-सा सॉफ्टवेयर प्रयोग में और कौन सा नहीं। मगर उनकी यही एक मांग है कि जानकारी दी जाए, यह प्रार्थना क्यों की गई है, इस बारे में वह नहीं जानते।” मेहता ने कहा कि वे उम्मीद करते हैं कि सर्वोच्च न्यायालय भी सरकार से यह जानकारी सार्वजनिक करने के लिए नहीं कहेगा।

Pegasus Case
Pegasus Case

Pegasus Case: ‘देश की सुरक्षा से समझौता नहीं कर सकते’- सुप्रीम कोर्ट

इस पर कोर्ट ने कहा कि याचिकाकर्ता क्या कह रहे हैं, हमें उससे कोई मतलब नहीं है। लेकिन हम देश की सुरक्षा से समझौता नहीं कर सकते। रक्षा सेनाओं ने कैन-सा सॉफ्टवेयर प्रयोग किया है हम वह आपसे नहीं पूछेंगे चाहे याचिकाकर्ता कुछ भी मांग करें।

जस्टिस सूर्यकांत ने कहा,”असल मुद्दा यहाँ कुछ और है, यहाँ नागरिक हैं और सिविलियन हैं। इनमें से कुछ लोग प्रतिष्ठित हैं जो अपने फोनों की हैंकिग और मॉनिटरिंग की शिकायत कर रहे हैं। यह सही है कि नियम मॉनिटरिंग की अनुमति देते हैं, यह उचित प्राधिकार से अनुमति लेकर की जा सकती है। इसमें कुछ गलत नहीं है।”

Rahul Gandhi Jammu Visit: जम्मू दौरे पर माता वैष्णो देवी मंदिर भी जाएँगे राहुल गाँधी

Agra: जब भगवान को लगी चोट, अस्पताल लेकर पहुंचा भक्त, कहा- मेरे लड्डू गोपाल का इलाज करा दो

मध्यप्रदेश के नीमच में पथराव, दरगाह के पास लगाई हनुमान जी की मूर्ति तो हुआ बवाल

पति संग दिल्ली के मंदिर में महाआरती करेंगी सांसद नवनीत राणा, उद्धव ठाकरे को दी चुनौती


Spread the love with your friends

Leave a Comment

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com