Muslimization in Bollywood : कैसे हुआ बॉलीवुड में मुस्लिमकरण, इस सदी का सबसे बड़ा कला सच

Spread the love with your friends

muslim stars in Bollywood
muslim stars in Bollywood

दोस्तों कैसे है आप , दोस्तों आप बॉलीवुड की चकाचूंध की दुनिया से तो वकीप होंगे ही।  क्या क्या सुच सामने आते है , आये दिन।  कहीं फ्लोर्ट्स तो कही नहीं शादी तो कहीं आपसी झगडे तो कहीं आपसी तालमेल , तो कहीं डाइवोर्स तो कहीं फिर से शादी।  अजीब ही दुनिया है बॉलीवुड की , और हो भी क्यों न आखिर हमने उनको सितारे जो बना रखे है।  हमारी जनरेशन ने तो उनको अपना आदर्श ही मान रखा है।

लेकिन जब बात आती है बॉलीवुड में पैसा कमाने की , शोहरत कमाने की , पॉपुलैरिटी की बात करे तो कोई भी स्टार पीछे नहीं नहीं रहता। सबका अपना अपना अंदाज होता है।  जैसे राखी सावंत को ही ले लो। बॉलीवुड की दुनिया में जितना बड़ा झूठ उतना ही पैसा तिजोरी में   लेकिन इस चमक दमक की दुनिया में कुछ स्टार तो राखी सावंत को भी पीछे छोड़ गए। और पब्लिक को इस कदर बेवकूफ बना गए की कुछ तो आज भी अनजान  है। हसी आती है ऐसी बेवकूफ जनता पे।

और इस बॉलीवुड की दुनिया में जो झूट मुस्लिम स्टार्स में पब्लिक को दिया है वो तो सायद ही किस ने दिया होगा।  अब एक उदाहरण के तौर पे बॉलीवुड के सबसे मशहूर स्टार युसूफ खान को देख लो , अब आधे से भी ज्यादा भारतीय हिन्दू ये पूछेंगे की इस बॉलीवुड के स्टार का नाम तो हमने सुना ही नहीं।  और सुनो भी कैसे गे , इन्होने आप का इतना बड़ा जो काट दिया।  ये युसूफ खान कोई और नहीं वही सुपर स्टार है जिसे हम दिलीप कुमार के नाम से जानते है।

अब बात आयी समझ में की जिस सुपर स्टार को हम सदियों तक एक हिन्दू स्टार समझते थे आखिर वो एक मुस्लिम स्टार निकला।  इस महाशय ने तो बॉलीवुड में नाम और पैसा कमाने के लिए अपना नाम ही बदल लिया।

और इस नाम बदलने के पीछे का मकशद था  की अगर ये मुस्लिम नाम के साथ आते तो हिन्दू लोग इनकी फिल्म नहीं देखते थे उस समय जब देश ताज़ा ताज़ा आजाद हुआ था , और अगर कोई हिन्दू फिल्म नहीं देखता तो इनके पैसे दुब जाते तो फिल्म की सुरुवद पे ही मुस्लिम डायरेक्टर ने इनको हिन्दू नाम बदल के रहने को कहा। और इस तरह पब्लिक का बहुत बड़ा कट गया।

जो हिन्दू लोग इनके पोस्टर अपने घर में लगा के खुस होते थे और बहुत ही चाव से पैसे जुटा कर और समय निकल के इनकी फिल्म देखने जाते थे , पता नहीं कितने पैसे लोगो ने इनकी मूवी देखने में उड़ा दिए और जब सुच सामने आया तो फैट के हाथ में आ गयी लोगो की।

ये तो एक बहुत छोटा केस है , ऐसे सैकड़ो केस बॉलीवुड में देखने को मिलेंगे।  जैसे की अब मीना कुमार और मधुबाला जिन्होंने सदियों तक हिन्दू बन कर हिन्दू दिलो पे राज किया और जो भी असली हिन्दू  स्टार मूवी में आती तो उनका करियर खा जाती।  अब जानिए इन स्टार्स का असली नाम , वही मीना कुमार जो कभी हिन्दुओ को लगता था की उनकी कौम की ये स्टार ने दुनिया में अपना नाम कमाया है उसका असली नाम महजबीन अलीबख्श है।

और जो हिन्दू बनकर सदियों तक हिन्दू दिलो पे मधुबाला बन कर राज करती रही उनका असली नाम मुमताज बेगम जहाँ देहलवी है।

अब इतना बड़ा झूट भारत की पब्लिक के सामने बोला गया, क्यंकि अगर ये आज अपने असली नाम के साथ आते तो शायद ये इतना पॉपुलर नहीं बल्कि आम पब्लिक में भी नहीं दिखाई देते।  इनको सर आँखों में बैठने वाले कोई और नहीं भारत देश के महान हिन्दू देशवासी ही थे और इनके नाम बदलने वाले मुस्लिम डायरेक्टर थे।  और ये भी सुच है की बॉलीवुडको स्टार्ट करने वाले हिन्दू थे और आज बॉलीवुड की बागडोर सँभालने वाले मुस्लिम है।

अगर कोई  विवेक अग्निहोत्री जैसे स्टार एक The Kashmir Files जैसे मूवी निकल के सुच सामने लाते है तो बाकि बॉलीवुड वाले चुप्पी साध लेते है। ऋतिक रोशन , अक्षय कुमार जैसे ही हीरो आज हिंदुत्व के नाम पे बॉलीवुड में बचे है।

अब इस बात से तो समझ आ ही गया होगा की सुशांत राजपूत के साथ ऐसा क्यों हुआ।

ये तो महज एक दो ही सच ही सामने आये है अभी तो पूरी फिल्म बाकि है मेरे दोस्तों।  तो चल एक नजर डाल ही देते है की मुस्लिम स्टार्स के काले सच :

अब आप संजू दादा को ही ले लो , लोग उसे आज भी हिन्दू ही समझते है।  हां उनके पिता जी सुनील दत्त जी एक कट्टर हिन्दू थे लेकिन उनकी माँ नरगिस एक मुस्लिम थी।  और बेटा माँ पे गया और भारत का दुर्भाग्य देखिये , संजय  दत्त ने हिन्दू धर्म को छोड़ के मुस्लिम धर्म को अपना लिया।

लेकिन वो इतने बड़े खिलाडी है की उन्होंने अपना नाम नहीं बदला। क्योंकि फिर बेवकूफ जनता का उनसे विश्वास उठ जायेगा।

ये तो कुछ भी नहीं है इस से भी बड़े बड़े काळा सच है।  अब एक और सच हम आपके सामने ला ही देते है , जरा रुके रहिये इस पोस्ट के साथ लास्ट तक।

अब हम आपको एक ऐसे मसले पे लेके जाते है , जहा मुस्लिम स्टार्स ने नाम तो नहीं बदल पाए लेकिन हिन्दू लोगो की सपोर्ट लेने  के लिए शादियों का ये नया ढोंग स्टार्ट कर दिया, और बन बैठे हिन्दू परिवारों के जमाई राजा , ताकि उनको हिन्दू की फुल फुल सपोर्ट मिले।

 है ना कमाल की बात।

अब बताइये जरा आखिर मुस्लिम बॉलीवुड स्टार की शादियों का ये तरीका कैसा लगा जैसे ये :

सुपर स्टार कहे जाने वाले शाहरुख़ खान की पत्नी गौरी छिब्बर के हिन्दू परिवार से है।

सुपर स्टार कहे जाने वाले आमिर खान की पत्निया रीमा दत्ता और किरण राव भी एक हिन्दू परिवार से है।

नवाब पाटोदी के बेटे सैफ अली खान की पूर्व पत्नी अमृता सिंह और नयी पत्नी जो बेटी की उम्र की है  करीना कपूर , वो भी एक हिन्दू परिवार से है।

सैफ अली खान की माँ भी शर्मीला टैगोर भी एक हिन्दू परिवार से थी जिसने नवाब पाटोदी से शादी की।

फरहान अख्तर की पत्नी अधुना भवानी भी एक हिन्दू परिवार से है।

फरहान अख्तर की पत्नी आयशा टाकिया भी एक हिन्दू परिवार से है।

शकील लदाख की पत्नी अमृता अरोड़ा भी एक हिन्दू परिवार से है।

सलमान खान के भाई अरबाज़ खान की पत्नी मलाइका अरोड़ा भी एक हिन्दू परिवार से है।

सलमान के भाई सुहैल खान की पत्नी सीमा सचदेवा भी एक हिन्दू परिवार से है।

अब इन सबको देखने के बाद लगता है की हिन्दुओ ने अपनी बेटियों को शायद अच्छे संस्कार नहीं दिए।

अनेक उदहारण ऐसे भी है , की हिन्दू अभिनेत्रियों को अपनी शादी बचाने के लिए अपना धर्म परिवर्तन भी करना पड़ा।

जैसे आमरी खान के भतीजे इमरान खान की हिन्दू पत्नी का नाम अवंतिका मालिक हो गया है।

संजय खान के बेटे जायद खान की हिन्दू  पत्नी मलिका पारेख हो गया है।

फिरोज खान के बेटे फरदीन खान की हिन्दू  पत्नी का नाम नताशा खान हो गया है।

इरफ़ान खान की हिन्दू पत्नी का नाम अब सुतपा सिकंदर हो गया है।

नसरुदीन शाह की हिन्दू पत्नी का  नाम रत्ना शाह हो गया है।

यही नहीं और भी काफी सुपर स्टार ऐसे ऐसे है जिन्होंने बाद में भी हिन्दू नाम रख कर हिन्दू लोगो को बेवकूफ बनाया।

जैसे की जिन्हे हम सालो तक जानी वॉकर समझते रहे  उनका असली नाम बदरूदीन जमालुदीन काजी था।

और एक विलेन जिनको हम अजित समझते रहे उसका असली नाम है हामिद अली खान।

अब ये ही बता तो दोस्तों की हम में से कितने लोग ये बात जान पाए की , अपनी समय की मशहूर अभिनेत्री रीना राय का असली नाम सायरा खान था।

और तो और , आज के समय के एक सफल अभिनेता जॉन अब्राहिम भी एक मुस्लिम है जिनका असली नाम फरहान इब्राहिम है।

जरा एक बार गौर फरमाइए , की पहले मुस्लिम स्टार हिन्दुओ के डर से अपना नाम बदल लेते थे लेकिन पिछले 60 – 70  साल में ऐसा क्या हुआ की अब ये मुस्लिम कलाकार हिन्दू नाम रखने की जरूरत नहीं समझते बल्कि मुस्लिम नाम उनका एक ब्रांड नाम बन गया।

जरा एक बार गौर से सोचिये की क्या सच में ये उनकी मेहनत का परिणाम है या हिन्दुओ के अन्दर से कुछ खत्म हो गया। ऐसा क्या हो गया की हिन्दुओ की बेटियाँ  उनको अपना उल्लू सीधा करने में सहायता के नाम पे शादिया कर रही है।

अब कोई भी मुस्लिम डायरेक्टर की फिल्म ले लो जिसमे एक ईमानदार इंसान मुस्लिम के ही रोल में होता है और लड़की जिस से वो प्यार करता है वो एक हिन्दू परिवार से होती है , उनकी शादी को रोकने वाला एक हिन्दू पंडित होता है जो , लड़की के परिवार को मुस्लिम से शादी करने की सलाह नहीं देता तो उस हिन्दू ब्राह्मण को Wrong Number  बना दिया जाता है। क्या कभी किसी ने मस्जिद के मौलाना को ऐसा करते देखा है नहीं , किसी मौलाना को Wrong Number नहीं दिखाया जाता।  और लड़के को हिन्दू और लड़की को मुस्लिम नहीं दिखाया जाता , क्योंकि अगर लड़का हिन्दू हुआ और लड़की मुस्लिम तो भारत में काफी जगह दंगे हो जायेगे , लेकिन जब लड़की हिन्दू और लड़का मुस्लिम होता है तो हिन्दुओ का फुदु काट दिया जाता है और होना जाना भी कुछ नहीं देश में।   और एक  इंसान हमेशा पाकिस्तान से जरूर सम्बन्ध रखता है जिसको अच्छा दिखाया जाता है।

आज भी एक फ़िल्मकार किसी मुस्लिम हीरो को साइन करते ही दुबई जैसे देशो से आसान शर्तो पे कर्ज मिल जाता है।  इक़बाल मिर्ची और अनीस इब्राहिम जैसे आतंकी एजेंट्स को सात सितारा होटलो में खुले आम मीटिंग करते देखा जा सकता है।

*बॉलीवुड आज मुस्लिम वुड का प्रयाय बन गया है *

सलमान खान, शाहरुख़ खान , सैफ अली खान नसरुदीन शाह , फरहान अख्तर , नवाजुद्दीन सिद्धकी , फवाद खान जैसे अनेक हिंदी फिल्मो की सफलता की गारंटी बना दिए गए है।

अक्षय कुमार , मनोज कुमार और राकेश रोशन जैसे हिन्दू फ़िल्मकार इन दरिंदो की आंख के काँटे है।

 इन मुस्लिम सुपर स्टार ने तब्बू  , राखी, शरधा कपूर  , इलेवन डी क्रूज़ , दिशा पटनी , पूजा हेगड़े, प्रणेति चोपड़ा, आनन्दी, शिल्पी शर्मा , नायरा बनर्जी , कोंकणा सेन , कंगना रनौत जैसे सफल अभिनेत्रियों और हिमेश रेशमिया ,  रणदीप हुड्डा , सतीश कौशिक , अर्जुन रामपाल , का जबरन करियर ख़तम कर दिया गया, क्योंकि वो मुस्लिम नहीं है।  और आज उनको गन्दी गन्दी वेबसेरिएस में काम करना पद रहा है। ये हिन्दू के जयादा बढ़ावे और अंधभक्ति की वजह से है की उनकी माँ बहनो को गन्दी गन्दी वेब सीरीज में काम करनापड़ रहा है और मुस्लिम स्टार को सर पे बैठा रखा है।

क्योंकि ऐसा फिल्म उद्योग का सबसे बड़ा फिनांसर दाऊद इब्राहम चाहता था। T -Series कंपनी के मालिक *गुलशन कुमार *ने उनकी बात नहीं मानी तो उनका नतीजा सबने देखा और सब हिन्दू चुप रहे और देखते रहे भेड़ बकरियों की तरह और फिर ढिंढोरे पीटते है की ऐसा कर देंगे वैसा कर देंगे तो मोके पे मुस्लिम उनको फुदु बना के चले जाते है।

फिल्म लिखने का काम भी सलीम खान और जावेद अख्तर जैसे मुस्लिम लेखकों के इर्द गिर्द ही रहा है , जिसमे एक रिस्वत खोर हिन्दू पुलिस अफसर और एक जेल में पड़ा ईमानदार मुस्लिम, एक दीवानी हिन्दू लड़की तो उसके बाप की मजबूरी , तो एक पाखंडी ब्राह्मण , इज्जत लूटने वाले विलन मुस्लिम जो फुल मजे लूट लूट ले गए , पीटने वाला हिन्दू हीरो।

और इन सब के बीच एकगाना तो मौला के  नाम पे का बनेगा ही बनेगा और जिसे गाने वाला पाकिस्तान से आना वाला जरूरी है

और हमारे बच्चे क्या करते है अपनी पढाई लिखे छोड़ के , समय निकल के इनकी फिल्मे देखने जाते है।  समय आ गया है असलियत को पहचानो और हिन्दू समाज को संगठित करो तब ही अपने धर्म की रक्षा कर पाओगे , नहीं एक एक करके सभी हिन्दू नारिया बुर्के में आ जाएगी और बाकियो का फुदु कर जायेगा।

हम आपको बता दे की वर्तमान में अब सिर्फ दो लोगो का ही नाम है सलमान खान और शाहरुख़ खान और डायरेक्टर कारन जोहर , म्यूजिक वाला जावेद अख्तर।


Spread the love with your friends

4 thoughts on “Muslimization in Bollywood : कैसे हुआ बॉलीवुड में मुस्लिमकरण, इस सदी का सबसे बड़ा कला सच”

  1. Movies mein Thakuron ko rapist, sharabi dikhane wala bhi mullawaadi Bollywood hi tha.. Jabki real life mein Thakur kilo par hi nahin balki logo ke dilo pe bhi raj karte they..

    Reply

Leave a Comment

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com