NFHS 5: पति पत्नी की बेडरूम लाइफ पर सरकारी रिपोर्ट में चौंकाने वाले खुलासे

Spread the love with your friends

नई दिल्ली: नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे-5 में भारतीयों की बेडरूम लाइफ पर एक अहम रिपोर्ट सामने आई है। 2019-2021 में किए गए इस सर्वे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में 80 फीसदी महिलाओं और 66 फीसदी पुरुषों ने कहा है कि पत्नी का पति से सेक्स के लिए इनकार करने में कुछ भी गलत नहीं है।

अगर पत्नी थकान की वजह से सेक्स से मना करती है तो 66% प्रतिशत पुरूषों को कोई दिक्कत नहीं। 66 प्रतिशत पुरूषों और 80% महिलाओं को सेक्स से इंकार करने से कोई दिक्कत नहीं अगर ये तीन कारण हो तों

  • पुरूष यौन रोगी है
  • पुरूष का किसी से अवैध संबंध है
  • महिला को थकान है

सर्वे में शामिल आठ फीसदी महिलाओं और दस फीसदी पुरुषों को लगता है कि इनमें से किसी भी कारण की वजह से पत्नी सेक्स के लिए इंकार नहीं कर सकती। 44 प्रतिशत पुरूष और 45% महिलाओं का मानना है कि इन 7 परिस्थितियों में पति का पत्नी को पीटना जायज है।

  • पत्नी बिना बताए बाहर जाती है
  • घर या बच्चों को नजरअंदाज करती है
  • खाना अच्छा नहीं बनाती
  • पति से बहस करती है
  • सेक्स करने से मना करती है
  • पति पर शक करती है
  • ससुराल वालों को सम्मान नहीं देती

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने बीते हफ्ते एनएफएचएस-5 की यह रिपोर्ट रिलीज की। इस रिपोर्ट में कहा गया है, पांच में से चार से अधिक (82 फीसदी) महिलाएं अपने पति से सेक्स से इनकार कर सकती हैं। पति से सेक्स के लिए ना कहने वाली इन महिलाओं की सबसे अधिक संख्या गोवा (92 फीसदी) में है जबकि अरुणाचल प्रदेश (63 फीसदी) और जम्मू एवं कश्मीर (65 फीसदी) में यह सबसे कम है। सर्वे में शामिल पुरूषों में से 19 फीसदी पुरुषों का मानना है कि पत्नी के सेक्स से इंकार करने के बाद पति को गुस्सा होने या पत्नी को डांट लगाने का हक है।

32 फीसदी शादीशुदा महिलाओं के पास नौकरी

सर्वे बताता है कि शादीशुदा महिलाओं में रोजगार की दर 32 फीसदी है जबकि एनएफएचएस के पिछले सर्वे में यह दर 31 फीसदी थी। इन 32 फीसदी महिलाओं में से 15 फीसदी को वेतन तक नहीं मिलता और इनमें से भी 14 फीसदी महिलाएं यह तक नहीं पूछ पाती कि उनका कमाया गया पैसा कहां खर्च हुआ। रिपोर्ट में कहा गया, भारत में जिन 32 फीसदी शादीशुदा महिलाओं के पास नौकरी है, उनकी उम्र 15-49 साल के बीच है जबकि इसी आयुवर्ग के 98 फीसदी पुरुषों के पास नौकरी है।

महिलाएं अकेले सफर नहीं कर सकती

सर्वे बताता है कि सिर्फ 56 फीसदी महिलाओं को अकेले बाजार जाने की इजाजत है, 52 फीसदी अकेले अस्पताल जाती है और 50 फीसदी महिलाएं ही अपने गांव या कम्युनिटी से बाहर अकेले निकलती हैं। भारत में सिर्फ 42 फीसदी महिलाओं को इन सभी स्थानों पर अकेले जाने की इजाजत है जबकि पांच फीसदी महिलाओं को इनमें से किसी भी स्थान पर अकेले जाने की इजाजत नहीं है।


Spread the love with your friends

Leave a Comment

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com